Skip to content

There Will Be No Tax On Earnings Of Rs 7Lakh : अब 7 लाख की कमाई पर नहीं लगेगा Tax, बस चुन लीजिए न्यू टैक्स रिजीम….

अब 7 लाख की कमाई पर नहीं लगेगा Tax, बस चुन लीजिए न्यू टैक्स रिजीम….

There Will Be No Tax On Earnings Of Rs 7Lakh: देश की आखिरी वित्तीय योजना 1 फरवरी 2024 को पेश की जाएगी और इसमें बस कुछ ही समय बचा है। सार्वजनिक प्राधिकरण इस वित्तीय योजना को आगामी लोकसभा निर्णयों के मद्देनजर पेश कर रहा है और हमेशा की तरह, कामकाजी व्यक्तियों को इस बजट योजना से बहुत सारी उम्मीदें हैं। यह एक ब्रेक वित्तीय योजना है, इसलिए व्यक्तियों को इससे बहुत अधिक धारणाएं नहीं होती हैं। बहरहाल, इस बार मजदूर वर्ग के लोग मदद के लिए हाथ-पैर मार रहे हैं।

पिछले साल पेश की गई बजट योजना में केंद्र सरकार ने नागरिकों को भरपूर मदद दी थी| इस दौरान सरकार ने नई ड्यूटी प्रणाली पेश की और ऐलान किया कि आम नागरिकों को 7 लाख रुपये तक की सैलरी पर चार्ज नहीं देना होगा| इसके अलावा सरकार ने बजट 2023 में एक और ड्यूटी सेक्शन भी पेश किया था। फिलहाल देश के नागरिकों के पास दो विकल्प हैं, नई ड्यूटी सेक्शन और पुराना टैक्स सेक्शन।

न्यू टैक्स रिजीम स्लैब :

. 0 से 3 लाख पर जीरो टैक्स
. 3 से 6 लाख पर 5 फीसदी टैक्स
. 6 से 9 लाख पर 10 फीसदी टैक्स
. 9 से 12 लाख पर 15 फीसदी टैक्स
. 12 से 15 लाख पर 20 फीसदी टैक्स

2020 में नई ड्यूटी का हिस्सा आया

केंद्र सरकार द्वारा नया कर्तव्य वर्ष 2020 में पेश किया गया था। किसी भी स्थिति में, तब अधिकांश नागरिक इसके बिना काम कर सकते थे। इसके बाद सरकार ने साल 2023 में इस ड्यूटी सेक्शन में कई सुधार किए हैं| इसके मुताबिक अब नए टैक्स सिस्टम में 5 ड्यूटी सेक्शन हो गए हैं| इसमें 7 लाख रुपये तक के वेतन पर कोई असेसमेंट नहीं काटा जाएगा| नई व्यय प्रणाली के तहत आवश्यक भत्ते की सीमा को बढ़ाकर 3 लाख रुपये कर दिया गया है.

2023 में हुए ये बदलाव

. नई व्यय प्रणाली के तहत, सार्वजनिक प्राधिकरण ने वर्ष 2023 में कई सुधार किए थे।

. इसमें आवश्यक छूट सीमा को 2.5 लाख रुपये से बढ़ाकर 3 लाख रुपये कर दिया गया|

. छूट के साथ-साथ मूल्यांकन अपवाद सीमा को 5 लाख रुपये से बढ़ाकर 7 लाख रुपये कर दिया गया।

. इसके अलावा स्टैंडर्ड व्युत्पत्ति के तौर पर 50,000 रुपये की छूट मिलती है।

. इस तरह देखा जाए तो नई व्यय प्रणाली के तहत 7.5 लाख रुपये तक के कुल भुगतान पर कोई कर निर्धारण नहीं किया जाना चाहिए।

ओल्ड टैक्स रिजीम में 5 लाख तक की इनकम टैक्स फ्री

इसके अलावा अगर पुरानी ड्यूटी व्यवस्था की बात करें तो 5 लाख रुपये तक के भुगतान पर कोई टैक्स नहीं देना होता है| पुरानी व्यय प्रणाली में पर्सनल ड्यूटी के सेगमेंट 80C के तहत 1.5 लाख रुपये तक की छूट मिलती है| इस प्रकार, इस ड्यूटी में शामिल व्यक्ति को 6.5 लाख रुपये तक के भुगतान पर कोई खर्च नहीं देना होगा। पुराने व्यय अपवाद के तहत 2.5 लाख रुपये तक के भुगतान पर कोई शुल्क नहीं देना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

निक्की तंबोली (Nikki Tamboli Bold Photos) सेक्सी पोज़ देती जान्हवी की ये तस्वीरें इंटरनेट का टेम्परेचर बढ़ा रही हैं बिकिनी में नम्रता मल्ला ने लगाया हॉटनेस का तड़का वेस्टइंडीज ने इंग्लैंड को 4 विकेट से टी20 सीरीज के पहले मुकाबले में हरा दिया बिग बॉस 17 के टॉप 5 कंटेस्टेंट्स की लिस्ट जारी की है।